अगर तुम जाने ही लगे हो..

अगर तुम जाने ही लगे हो तो पलट कर मत देखना,
क्योंकि मौत की सज़ा लिखने के बाद कलम तोड़ दी जाती है..

Agar tum jane hi lage ho to palat kar mat dekhna,
kyonki maut ki sazaa likhne ke bad kalam tod di jati hai..

रात का अँधेरा..

रात का अँधेरा पूछ रहा था, कहाँ गया वो रात भर बात करने वाला…
Raat ka andhera poochh rha tha, kanha gya wo Raat bhar baat krne wala…

नजाने क्यों आते हैं..

नजाने क्यों आते हैं, ज़िन्दगी में ऐसे लोग..
वफ़ा कर नहीं सकते पर, वादे हज़ार करते हैं..

Najane kyon aate hain, Zindagi mein aise log..
Waffa kar nahi skte par, Waade hzaar karte hain..

किरायेदार सी थी..

किरायेदार सी थी तुम्हारी फितरत, कभी पूरी तरह से अपना समझा ही नहीं..
Kirayedar si thi tumhari fitrat, kabhi puri tarah se apna smjha hi nahi..

काश तू सुन पाता..

काश तू सुन पाता खामोश सिसकियाँ मेरी,
आवाज़ कर के रोना मुझे आज भी नहीं आता..

Kash tu sun pata khamosh siskiyan meri,
Awaaz kar ke rona mujhe aaj bhi nahi ata.

Dhundna hi hai to..

bewafa shayari image download

ढूंढना ही है तो परवाह करने वालों को ढूंढ़िये…
इस्तेमाल करने वाले तो ख़ुद ही आपको ढूंढ लेंगे..
Dhundna hi hai to parwah karne walo ko dhundiye..
Istemal karne wale to khud hi apko dhund lenge..

Chand ko chand sitaro ko sitara kehna..

bewfa shayari image download

चाँद को चाँद सितारों को सितारा कहना, जो हकीकत में हमारा हो हमारा कहना ||
क्या कहा हमसे मोहब्बत नहीं निभाई गयी, यह बात दिल पर हाथ रख कर दोबारा कहना ||
Chand ko chand sitaro ko sitara kehna, jo haqiqat mein hmara ho hmara kehna,
kya kaha humse mohabbat nahi nibhayi gai, yeh baat dil par hath rakh kar dobara kehna.