नजाने क्यों आते हैं..

नजाने क्यों आते हैं, ज़िन्दगी में ऐसे लोग..
वफ़ा कर नहीं सकते पर, वादे हज़ार करते हैं..

Najane kyon aate hain, Zindagi mein aise log..
Waffa kar nahi skte par, Waade hzaar karte hain..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *