तुझे चाहते हैं बेइंतहा..

तुझे चाहते हैं बेइंतहा, पर चाहना नहीं आता..
यह कैसी मोहब्बत है, के हमें कहना नहीं आता..
ज़िन्दगी में आ जाओ हमारी ज़िन्दगी बनकर,
के तेरे बिना हमें ज़िंदा रहना नहीं आता..

Tujhe chahte hain Beintaha, Par Chahna nahi ataa..
Yeh kaisi Mohabbat hai, ke hmein kehna nahi ataa..
Zindagi mein aa jao hmari Zindagi bankar,
Ke tere bina hmein Zinda rehna nahi ataa..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *