बुराई बड़ी मीठी है

बुराई बड़ी मीठी है उसकी चाहत काम नहीं होती;
सचाई बड़ी कड़वी है सबको हज़म नहीं होती ||

Burayi badi meethi hai uski chahat kam nahi hoti
Sachai badi kadvi hai sabko hazam nahi hoti.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *