भूल जाने का कोई..

भूल जाने का कोई इरादा ना था, तेरे सिवा किसी से किया कोई वादा ना था.
निकाल देते दिल से शायद तुम्हारे ख्याल, पर इस कम्बखत दिल में कोई दरवाज़ा ना था.

bhool jane ka koi irada na tha, tere siwa kisi se kiya koi wadaa na tha.
nikal dete dil se shayad tunhare khyal, par is kambakhat dil mein koi darwaza na tha.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *